March 8, 2021

Bird Festival : बेमेतरा में 31 जनवरी से शुरू हो रहा 3 दिवसीय आयोजन, 150 प्रकार के पक्षियों का होगा दर्शन

बेमेतरा। छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले के ग्राम गिधवा और परसदा में 150 प्रकार के पक्षियों का अनूठा संसार है. इनमें जलीय और थलीय दोनों ही प्रकार के पक्षी शामिल हैं. गिधवा और परसदा गांव में छत्तीसगढ़ के पहले पक्षी महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. ये महोत्सव 31 जनवरी से 2 फरवरी तक चलेगा. तीन दिवसीय महोत्सव को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई है. बेमेतरा कलेक्टर शिव अनंत तायल और दुर्ग वन मंडल अधिकारी धम्मशील गणवीर सहित प्रशासनिक अमले ने गिधवा और परसदा का निरीक्षण किया. महोत्सव को सफल बनाने के लिए व्यवस्था को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं.

15 दिन पहले ही दुर्ग डीएफओ का पद संभालने वाले धम्मशील गणवीर ने पक्षी महोत्सव को लेकर कॉन्सेप्ट बनाया है. जिसे प्रशासनिक अधिकारियों-कर्मचारियों ने सराहा है. 31 जनवरी से मध्य भारत का पहला तीन दिवसीय पक्षी महोत्सव छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिला के गिधवा में होने जा रहा है.

गिधवा और परसदा गांव में छत्तीसगढ़ के पहले पक्षी महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. ये महोत्सव 31 जनवरी से 2 फरवरी तक चलेगा. गिधवा में 150 प्रकार के पक्षियों का अनूठा संसार है. इनमें जलीय और थलीय दोनों ही प्रकार के पक्षी शामिल हैं. ईको टूरिज्म विकास और स्थानीय रोजगार की दृष्टि से गिधवा परसदा में ग्राम वासियों के सहयोग से वन विभाग और उसकी सहयोगी संस्था फाउंडेशन नोवा नेचर वाइल्डलाइफ वेलफेयर जशपुर के जरिए ये बर्ड फेस्टिवल का आयोजन होगा. पहली बार हो रहे इस पक्षी महोत्सव में शामिल होने वन विभाग में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा. यहां पक्षी प्रेमियों को कई तरह के पक्षियों को देखने का मौका मिलेगा.

कार्यक्रम के पहले दिन की गिधवा और परसदा के समस्त ग्रामवासियों का स्वागत किया जाएगा. दूसरे दिन 6 बजे से लेकर 8 बजे और शाम 3 से 6 बजे तक पक्षी विशेषज्ञों के जरिए पक्षियों के दर्शन कराए जाएंगे. साथ ही लाइव फोटोग्राफी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा और विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरण और सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ महोत्सव का समापन होगा.

error: Content is protected !!