October 28, 2020

गरियाबंद : धवलपुर क्षेत्र में करंट लगने से एक और हाथी की मौत

गरियाबंद।  छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिलान्तर्गत धवलपुर क्षेत्र में एक हाथी की करंट लगने से मौत हो गई है।  जानकारी के मुताबिक हाथी अपने दल के साथ ओडिशा से इस इलाके में आया था।  हाथी जिस रास्ते से जा रहे थे. उस रास्ते पर 11kv लाइन की तार टूट कर नीचे गिर गई थी। जिसके संपर्क में आने से हाथी की मौत हो गई. वन विभाग के अधिकारियों ने हाथी की मौत की पुष्टि की है। 

प्रदेश में लगातार हो रही हाथियों की मौत को लेकर वन्य जीव प्रेमी खासे नाराज हैं. हाथियों की मौत को लेकर वन विभाग पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं.करीब 10 दिनों पहले गरियाबंद से हाथियों के आतंक मचाने की खबर आई थी. उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के बफर जोन एरिया वन परिक्षेत्र कुल्हाडीघाट के पहाड़ी के ऊपर बसे ग्राम भालूडिग्गी में पिछले लगातार तीन दिनों से हाथियों के दलों ने जमकर आंतक मचाया था. हाथियों के दलों ने भालूडिग्गी गांव मे पहुंचकर लगभग 8 से ज्यादा विशेष पिछड़ी कमार जनजाति आदिवासियों की झोपडियों को पूरी तरह तहस नहस कर दिया था.

बीते दिनों महासमुंद में एक हथिनी की करंट लगने से मौत का मामला सामने आया था. महासमुंद के पिथौरा वन परिक्षेत्र के ग्राम किशनपुर में जंगली सुअर के शिकार के लिए बिछाए कंरट की चपेट में आने से एक हथिनी की मौत हो गई थी. हथिनी की उम्र लगभग 25 से 30 साल थी. माना जा रहा है कि हथिनी संभवत: गर्भवती थी.


इससे पहले भी प्रदेश के अन्य जिलों से करंट लगने से हाथियों के मौत के मामले सामने आ चुके हैं. बीते 23 सितंबर को रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़ में एक हाथी की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई. बीते कुछ महीनों पहले भी सूरजपुर और जशपुर जिले में हाथियों की करंट की चपेट में आने से मौत हुई थी.

error: Content is protected !!