July 7, 2022

विधानसभा : पुलिस कस्टडी में हुई मौत का मामला, रमन ने उठाया मुद्दा

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में बजट सत्र के पांचवे दिन ध्यानाकर्षण के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सिलतरा चौकी में पुलिस कस्टडी में एक व्यक्ति की मौत होने का मामला उठाया। डॉ रमन सिंह ने पूछा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण क्या बताया गया इस बात की जानकारी दी जानी चाहिए ?
उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस कस्टडी में आरोपी को मारा गया। उसे डॉक्टरी सहायता उपलब्ध नहीं कराई गई। उसके सिर पर इतना मारा गया कि ब्रेन हेमरेज हो गया। पुलिस अभिरक्षा में मारने के बाद व्यक्ति के सिर में ब्लड क्लॉट हो गया।
उसके बाद भी 1 घंटे तक उसे बिठा कर रखा गया था। जब बेहोशी छाने लगे तभी स्कूटर में बैठा कर व्यक्ति को अस्पताल तक ले जाया गया। मामले में पुलिस कर्मी और चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई किया जाना चाहिए, जिन्होंने उसे स्वस्थ घोषित किया था।
मंत्री ताम्रध्वज साहू ने इस पर जवाब देते कहा कि, “क्योंकि इस मामले में न्यायिक जांच चल रही है इसलिए मैं किसी के खिलाफ कार्रवाई की घोषणा नहीं कर सकता”।
डॉ रमन सिंह ने कहा कि पुलिस का हौसला इतना बढ़ता जा रहा है कि लगातार कई स्थानों से पुलिस अभिरक्षा में मौत का मामला सामने आ रहा है। ? क्या पुलिस का पहला कर्तव्य नहीं होता कि जो व्यक्ति घायल है, जख्मी है उसे अस्पताल में तत्काल भर्ती कराया जाए।गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि व्यक्ति को पहले अस्पताल में ले जाया गया था वहां किस तरह से कार्रवाई की गई यह डॉक्टर ही जानेंगे। पुलिस के लोगों ने एमबीबीएस तो नहीं किया है।

विपक्ष ने कहा कि एक विभाग दूसरे विभाग पर जिम्मेदारी डाल कर बच नहीं सकता यह विधानसभा है यहां पर सामूहिक जिम्मेदारी होती है।गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!