October 31, 2020

छत्तीसगढ़ : कोरोना ड्यूटी के दौरान अब तक 15 से ज्यादा शिक्षकों की मौत, संघ ने की 50 लाख के बीमे की मांग

रायपुर।  छत्तीसगढ़ में करीब 20 शिक्षकों की असमय मौत कोरोना ड्यूटी के दौरान हुई है।  ताजा मामला राजधानी रायपुर का है, जहां अब तक 4 शिक्षकों की मौत हो चुकी है।   कोरोना संक्रमण काल में ड्यूटी कर रहे शिक्षकों की मौत को लेकर शिक्षक संघ ने नाराजगी जताई है।  संयुक्त शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष केदार जैन ने राज्य सरकार से शिक्षकों के लिए 50 लाख के बीमे की मांग की है. इसके अलावा सुरक्षा मानक और सहायक शिक्षक पद में अनुकंपा नियुक्ति तत्काल लागू करने की मांग भी की है. उन्होंने कहा कि असंवेदनशीलता से कोरोना ड्यूटी करने वाले शिक्षकों की लगातार मौत हो रही है। 


केदार जैन ने बताया कि प्रदेश में करीब 20 शिक्षकों की असमय मौत कोरोना ड्यूटी के दौरान हुई है. ताजा मामला राजधानी रायपुर का है, जहां अब तक 4 शिक्षकों की मौत हो चुकी है. शिक्षक नीलेश देवांगन, एलबी शासकीय हिन्दू हायर सेकंडरी स्कूल, रायपुर में पदस्थ थे. जिनकी ड्यूटी लगातार कोरोना संबंधित काम में लगाई जा रही थी. इस दौरान शिक्षक कोरोना की चपेट में आ गए और उनकी मौत हो गई.

केदार जैन ने राज्य सरकार से शिक्षकों के लिए 50 लाख का बीमा, सुरक्षा मानक और सहायक शिक्षक पद में अनुकंपा नियुक्ति की मांग की है. केदार जैन का कहना है कि शिक्षकों को बिना ट्रेनिंग के कोरोना संबंधी विभिन्न काम जैसे कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, ऐक्टिव सर्विलेंस, कोरोना मरीज की अस्पताल भर्ती और रिकॉर्ड अपडेट, घर-घर कोरोना सर्वे, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, बस स्टॉप में ड्यूटी लगाई जा रही है. जो कि अब इन शिक्षकों को ही भारी पड़ रही है.


केदार का कहना है कि मांग पर विचार नहीं करने पर शिक्षक सड़क पर उतरने को मजबूर हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि कोरोना ड्यूटी के दौरान शिक्षकों को किसी तरह की की सुरक्षा किट भी नहीं दी जा रही है. जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है. 

error: Content is protected !!