July 7, 2022

रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट बेचने के बाद किसानों की जमीन पर BJP की नजर

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वर्धा के गांधी सेवाग्राम आश्रम पहुंचे. सीएम भूपेश वर्धा में चल रहे कांग्रेस के प्रशिक्षण शिविर में शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने कृषि बिल को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है. 

कृषि बिल पर सीएम ने कहा कि, जिसके लिए कानून लागू किया जा रहा है, जब उन्हें ही स्वीकार नहीं है तो कानून को वापस ले लेना चाहिए. बघेल ने कहा कि यह पूंजी पतियों के लिए बनाया गया कानून है. अभी तक यहां जितने भी उद्योग स्थापित हुए हैं, उसे बेचने का काम भाजपा ने किया है.’

सीएम ने कहा कि, ‘भाजपा ने रेलवे स्टेशन बेचने काम किया, एयरपोर्ट बेचने का काम किया है. अब उनकी निगाह किसानों की जमीन पर है. किसान भी इस बात को समझ चुके हैं. इसलिए डेढ़ महीने से किसान आंदोलनरत हैं. सुप्रीम कोर्ट ने भी इस कानून पर रोक लगाने को कहा है. भारत सरकार को चाहिए कि वे इस काले कानून को वापस ले.’

सीएम बघेल ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि अहिंसा का कोई विकल्प नहीं है. जो रास्ता गांधीजी ने दिखाया था, आज भी वही रास्ता हमारे लिए है. अब लोग हिंसा से उब गए हैं. नक्सलवाद से उब गए हैं. 

सीएम बघेल ने कहा कि वहां के आदिवासियों का विश्वास पिछली सरकार खो चुकी थी. हम लोगों ने उनका विश्वास हासिल किया है. उन्हें जमीन देने का काम किया है. तेंदूपत्ता खरीदने का काम किया है. वनोपज की खरीदी की व्यवस्था की गई है. खरीदी के बाद प्रोसेसिंग प्लांट लगाए जा रहे हैं, जिससे वहां के लोगों को रोजगार मिल सके, क्षेत्र का विकास हो सके. सीएम ने कहा कि लोगों का विश्वास जीतने के साथ विकास भी किया जा रहा है. इससे 2 साल में काफी माहौल बदला है.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम, पीसीसी कार्यकारिणी के 41 पदाधिकारी, 36 जिला-शहर अध्यक्ष और सभी फ्रंटल ऑर्गेनाइजेशन के अध्यक्षों समेत कांग्रेस के कुल 85 पदाधिकारी महाराष्ट्र के वर्धा दौरे पर हैं. जो गांधी आश्रम सेवाग्राम में आयोजित तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में शामिल हो रहे हैं.

error: Content is protected !!