May 15, 2021

CM भूपेश ने रमन के बयान को बताया भाजपा का दोगलापन, कहा- प्रदेश के किसानों के खिलाफ षड़यंत्र कर रहे हैं पूर्व मुख्यमंत्री

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रचार कर राजधानी लौट आये हैं। रायपुर लौटते ही उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के एक बयान पर तीखा हमला किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, डॉ. रमन सिंह का यह बयान भाजपा के दोगलेपन को उजागर करता है।

माना हवाई अड्‌डे पर संवाददाताओं से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा, एक तरफ केंद्र की भाजपा सरकार कहती है कि किसानों को एक रुपए भी बोनस नहीं देना है। दूसरी तरफ डॉ. रमन सिंह कहते हैं डेढ़ साल बाद राशि दी जा रही है। यह गलत बात है। हम डेढ़ साल बाद राशि नहीं दे रहे हैं। यह राजीव गांधी किसान न्याय योजना की राशि है जो इसी वित्तीय वर्ष में दी जा रही है। मुख्यमंत्री ने किहा, डॉ. रमन सिंह अपने बयानों से दिल्ली में बता रहे हैं कि हम धान पर बोनस दे रहे हैं। इसीलिए केंद्र सरकार की ओर से हमारे चावल की खरीदी को रोका गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, डॉ. रमन सिंह प्रदेश के किसानों के खिलाफ षड्यंत्र कर रहे हैं। प्रदेश के किसान इस बात को अच्छे से समझ रहे हैं। डॉ. रमन सिंह के दिल्ली जाकर प्रधानमंत्री से मुलाकात के एक सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, उम्मीद करता हूं कि इस दौरान उन्होंने प्रदेश के विषय में भी बात की होगी। छत्तीसगढ़ से चावल उठाव का कोटा बढ़ाने पर भी उन्होंने अपनी बात रखी होगी।

नक्सली नेता विकल्प के पत्र में सरकार के साथ शांतिवार्ता के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दो टूक कहा कि इसके लिये नक्सलियों को हथियार छोड़ना होगा। उन्होंने कहा, मैं पहले ही कहता रहा हूं नक्सली सबसे पहले हथियार छोड़ें। लोकतंत्र पर विश्वास व्यक्त करें। उसके बाद ही उनसे बातचीत हो सकती है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, असम में स्थिति अब स्पष्ट होती जा रही है। कांग्रेस वहां स्पष्ट बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है। हमने असम के लोगों को भरोसा दिलाने की कोशिश की है। जिस तरह छत्तीसगढ़ में वादे पूरे किए गए उसी तरह असम में भी किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने भाजपा पर असम में कांग्रेस का चुनाव प्रचार बाधित करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, माजुली विधानसभा में प्रचार के दौरान बिजली गुल की गई। आज राहुल गांधी के काफिले को रोकने की कोशिश की गई। असम के लोग समझ रहे हैं किस स्तर पर राजनीति हो रही है।

error: Content is protected !!